महानिदेशक कृष्णास्वामी नटराजन, पी.वी.एस.एम, पी.टी.एम, टी.एम
भारतीय तटरक्षक प्रमुख

 

महानिदेशक कृष्णास्वामी नटराजन, परम विशिष्ट सेवा पदक (पी.वी.एस.एम), राष्ट्रपति तटरक्षक पदक (पी.टी.एम), तटरक्षक पदक (टी.एम) ने 18 जनवरी 1984 को भारतीय तटरक्षक में कार्यभार ग्रहण किया । इनका जन्म 30 दिसंबर, 1961 को हुआ तथा इन्होंने अपनी शिक्षा-दीक्षा चेन्नई से ग्रहण की । अफसर ने मद्रास विश्वविद्यालय से रक्षा एवं सामरिक अध्ययन में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की है । फ्लैग अफसर, रक्षा सेवा स्टॉफ कॉलेज, वेलिंगटन के भूतपूर्व छात्र रहे हैं । इन्होंने यू.एस. कोस्ट गार्ड रिजर्व प्रशिक्षण केंद्र, यॉर्कटाउन, वर्जिनिया से खोज एवं बचाव के साथ-साथ समुद्री सुरक्षा एवं पत्तन ऑपरेशन में विशेषज्ञता प्राप्त की है ।
 

महानिदेशक के नटराजन ने पोत एवं तटीय स्थापनाओं, दोनों में विभिन्न महत्वपूर्ण कमान एवं स्टॉफ नियुक्तियों को उत्कृष्टता से संभाला है । फ्लैग अफसर ने सभी श्रेणियों के भारतीय तटरक्षक पोतों अर्थात् अत्याधुनिक अपतटीय गश्ती पोत (ए.ओ.पी.वी) संग्राम, अपतटीय गश्ती पोत (ओ.पी.वी) वीरा, तीव्रगामी गश्ती पोत (एफ.पी.वी) कनकलता बरूआ और उपतटीय गश्ती पोत (आई.पी.वी) चांदबीबी की कमान को संभाला है । फ्लैग अफसर की महत्वपूर्ण तटीय नियुक्तियों में तटरक्षक जिला मुख्यालय-05 (चेन्नई, तमिलानाडु) में जिला कमांडर और भारतीय तटरक्षक स्टेशन मंडपम में कमान अफसर सम्मिलित है । तटरक्षक मुख्यालय, नई दिल्ली में फ्लैग अफसर की महत्वपूर्ण नियुक्तियों में प्रधान निदेशक (नीति एवं योजना), अध्यक्ष तटरक्षक सेवा चयन बोर्ड, प्रधान निदेशक (परियोजना), संयुक्त निदेशक (संक्रिया) एवं महानिदेशक भारतीय तटरक्षक के तटरक्षक सलाहकार (सीजीए) सम्मिलित है । फ्लैग अफसर ने क्षेत्रीय मुख्यालय (पूर्व), चेन्नई में प्रमुख स्टॉफ अफसर (कार्मिक एवं प्रशासन) तथा क्षेत्रीय मुख्यालय (पश्चिम), मुंबई में स्टॉफ प्रमुख जैसी महत्वपूर्ण नियुक्तियों को संभाला है । अफसर ने तटरक्षक प्रशिक्षण केंद्र, कोच्ची के प्रभारी अफसर के दायित्व को भी संभाला है ।
 

अगस्त 2009 में फ्लैग अफसर की रैंक में पदोन्नति होने पर, इन्होंने तटरक्षक मुख्यालय में उप महानिदेशक (नीति एवं योजना) के रूप में नीति एवं योजना स्टॉफ प्रभाग का अप्रैल 2014, तक नेतृत्व किया । महानिदेशक ने 26/11 के हमले के बाद, 20 नए स्टेशनों, 10 वायु स्थापनाओं दो क्षेत्रीय मुख्यालयों, दो समुद्री बोर्ड तथा 120 पोतों एवं नौकाओं के निर्माण हेतु संविदा करने और समर्पित अकादमी सहित ढांचागत विकास पर जोर देते हुए तटरक्षक के समग्र विकास को प्रोत्साहित करने में अग्रणी भूमिका निभाई है । फ्लैग अफसर मई 14 से जुलाई 15 की अवधि में कमांडर, तटरक्षक क्षेत्र (अंडमान एवं निकोबार) और जुलाई 15 से अगस्त 16 के दौरान कमांडर, तटरक्षक क्षेत्र (पश्चिम) रहे हैं । फ्लैग अफसर 12 अगस्त 16 को अपर महानिदेशक के पद पर पदोन्नत हुए और तब से 29 जून 19 तक तटरक्षक कमांडर (पश्चिमी समुद्री क्षेत्र) के पद पर बने रहे ।

 

उत्कृष्ट सेवाकाल के दौरान अफसर की अनेकों उपलब्धियां हैं, जिनमें देश के राजकोष को क्षति पहुँचने से रोकने के लिए इन्होंने वर्ष 1991-92 में, तत्कालीन कमान अफसर तटरक्षक स्टेशन मंडपम के रूप में तस्करी द्वारा श्रीलंका को जा रही निषिद्ध सामग्रियों की आवाजाही पर रोक लगाई । जून 2006 में क्षेत्रीय मुख्यालय (पश्चिम) में स्टॉफ प्रमुख के रूप में इनकी क्रमिक एवं योजनाबद्ध तरीके से की गई कार्रवाई के परिणामस्वरूप मुंबई के निकट 200 किलोग्राम कोकीन पकड़ी जा सकी । जुलाई 2017, में शीर्षस्थ संक्रिया नियंत्रण प्राधिकारी (पश्चिमी तट) के रूप में, इन्होंने जहाज एमवी हेनरी को पकड़कर तलाशी करने के साहसिक अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया, जिसके परिणामस्वरूप लगभग 5000 करोड़ रूपये मूल्य की 1.5 टन हेरोइन बरामद की जा सकी । इनकी विशिष्ट सेवा के एवज में, इन्हें वर्ष 2018 में “वर्ल्ड कस्टम ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यू.सी.एम) सर्टिफिकेट ऑफ मेरिट” से सम्मानित किया गया ।
 

महानिदेशक के नटराजन को वर्ष 2011 में राष्ट्रपति तटरक्षक पदक (विशिष्ट सेवा), वर्ष 1996 में तटरक्षक पदक (सराहनीय सेवा) और जनवरी 2015 में लेफ्टिनेंट गवर्नर (अंडमान व निकोबार द्वीप समूह) की प्रशस्ति से सम्मानित किया गया । समुद्री संरक्षा एवं सुरक्षा के प्रति इनके उत्कृष्ट योगदान हेतु इन्हें अक्टूबर 2016 में “कश्ती रत्न” और दिसंबर 2017 में “समुद्र मंथन पुरस्कार” से सम्मानित किया गया ।
 

फ्लैग अफसर, सीधी भर्ती द्वारा नियुक्त द्वितीय तटरक्षक अफसर हैं, जिन्होंने 23वें महानिदेशक के रूप में दिनांक 30 जून 19 को भारतीय तटरक्षक का कमान संभाला।
 

फ्लैग अफसर का विवाह श्रीमती जयंती नटराजन से हुआ है और इनके दो बच्चे हैं

Back to Top

Ministry of Defence : यह लिंक इस वेबसाइट के बाहर एक वेबपेज पर ले जाएगा
अंतिम नवीनीकृत: 08/04/2021

आगंतुक काउंटर :

1358182