महानिरीक्षक राकेश पाल, तटरक्षक पदक
कमांडर तटरक्षक क्षेत्र (उत्तर-पश्चिम)

 

महानिरीक्षक राकेश पाल, तटरक्षक पदक, ने 16 जनवरी 1989 को भारतीय तटरक्षक में कार्यभार ग्रहण किया । अफसर भारतीय नौसेना अकादमी गोवा के भूतपूर्व छात्र हैं । ये तोपचालन एवं हथियार प्रणाली में प्रशिक्षित हैं तथा विशेज्ञता के अनुरूप ध्वज वाहक हैं । इन्होंने 29 अगस्त 16 को तटरक्षक क्षेत्र (उत्तर-पश्चिम) की कमान संभाली ।


लगभग तीन दशक की विभागीय सेवा के दौरान इन्होंने महत्वपूर्ण तटीय एवं पोतों की नियुक्तियों को संभाला है । इन्होंने लगभग सभी श्रेणी की पोतों की कमान कुशलता पूर्वक किया है । इसके द्वारा कमान की गई पोतों में अपतटीय गश्ती पोत समर्थ एवं विजित भारतीय तटरक्षक पोत सुचेता कृपलानी, आई पी वी अहिल्याबाई तथा अंतर्रोधी नौका सी-03 सम्मिलित है । प्रदूषण नियंत्रण पोत भारतीय तटरक्षक पोत समुद्र पावक के कमान अफसर के रूप में पीसीवी की सामर्थ्य का उपयोग करते हुए संवेदनशील एवं सघन परिवहनयुक्त गुजरात के तटीय क्षेत्र का कुशल नेतृत्व किया । इसके अतिरिक्त, पूर्व में, इन्होंने तटरक्षक मुख्यालय, नई दिल्ली में निदेशक (कार्मिक जनशक्ति एवं प्रशिक्षण), निदेशक (अवसंरचना एवं कार्य) तथा प्रधान निदेशक (प्रशासन) जैसी महत्वपूर्ण नियुक्तियों को संभाला है । अफसर ने गुजरात स्थित ओखा एवं वाड़ीनार जैसे 02 सीमांत स्टेशनों की भी कमान की है ।


इनके कुशल नेतृत्व में भारतीय तटरक्षक पोतों ने भारतीय समुद्र एवं पर्सियन गल्फ यूएई, कतर एवं ओमान का अन्वेषण किया । सी-405 का अनुरक्षण तथा बाद में सेचिल तटरक्षक को सौंपने की प्रक्रिया इनके कुशल नेतृत्व का द्योतक है । इस प्रक्रिया ने सुदूर अफ्रीका महाद्वीप एवं मारीसस, सेचिल तथा मेडागास्कर जैसे बिखरे द्वीपीय राष्ट्रों के मध्य व्यावसायिक समरसता का ताना-बाना बुना । अफसर को 2013 वर्ष में सराहनीय सेवा के लिए तटरक्षक पदक प्रदान किया गया ।


फ्लैग अफसर को संगीत अत्यधिक प्रिय है तथा देशभक्ति में आस्था है । इनका विवाह श्रीमती दीपा पाल से हुआ है तथा इनके दो पुत्रियां हैं । जिनका नाम स्नेहल एवं तारूशी है, जो शिक्षारत हैं ।

Back to Top

http://mod.nic.in/ : यह लिंक इस वेबसाइट के बाहर एक वेबपेज पर ले जाएगा
अंतिम नवीनीकृत: 12/12/2019

आगंतुक काउंटर :

5145220
stqc